Meaning of Server in Hindi – सर्वर क्या है और Server Down क्यों होता है?

अगर आप प्रौद्योगिकी में रुचि रखते हो या फिर आपका कंप्यूटर की दुनिया में रुचि है तो आप इसके बारे में पढ़ते रहते होंगे और अगर आप कंप्यूटर व प्रौद्योगिकी के बारे में पढ़ते रहते हो तो आपने कई बार एक शब्द सुना होगा जो है ‘सर्वर’! हम सभी लोग आए दिन यह शब्द सुनते रहते हैं।

Meaning of Server in Hindi
Meaning of Server in Hindi

लेकिन काफी सारे लोग नहीं जानते कि आखिर ‘सर्वर क्या है (Meaning of Server in Hindi) और Server Down क्यों होता है? ऐसे में अगर आप इस विषय में रुचि रखते हैं तो यह लेख पूरा पढ़ें।

Meaning of Server in Hindi – सर्वर क्या है?

अगर आप प्रौद्योगिकी दुनिया में रुचि रखते हैं या फिर आपको कंप्यूटर के बारे में जानने में रुचि है तो आपको यह पता होना चाहिए कि आकर सरवर क्या है? दरअसल सर्वर एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्राम या फिर कहा जाए तो डिवाइस होता है जो अन्य कंप्यूटर को डाटा प्रदान करने का कार्य करता है। एक कंप्यूटर को स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क (LAN) या इंटरनेट पर विस्तृत क्षेत्र नेटवर्क (WAN) के द्वारा जोड़कर अन्य कंप्यूटर तक डाटा प्रदान या फिर कहा जाए तो प्रोसेस करने का कार्य करता है।

अगर आप सरल भाषा में समझना चाहते हैं कि ‘सर्वर क्या है’ तो जानकारी के लिए बता दें कि यह एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो डाटा को स्टोर करने का काम करता है और आर्डर मिलने पर डाटा को प्रोसेस करके उसे यूजर तक डिलीवर करने का कार्य करता है।

यही कारण है कि जितना तेज और मजबूत किसी वेबसाइट या एप्लीकेशन का सर्वर होता है उतने ही बेहतर तरीके से अर्थात स्मूथली वह वेबसाइट या एप्लीकेशन रन होते है। यानि की सर्वर डाटा को मैनेज करने का काम करता है।

Server कैसे काम करता है?

अब हम आपको यह तो बता चुके हैं कि सर्वर क्या है (Meaning of Server in Hindi) तो ऐसे में अब आपका यह जानना भी जरूरी है कि आखिर सर्वर काम कैसे करता है क्युकी इसे जाने बिना सर्वर को लेकर आपकी जानकारी अधूरी रह जाएगी।

दरअसल सर्वर के काम करने के तरिके को समझना बेहद ही आसान है क्युकी यह एक मीडियोकर की तरह काम करता है। जैसा की इसका नाम है ‘सर्वर’ वैसा ही इसका काम है जो है डाटा को सर्व करना। अर्थात सर्वर डाटा को सर्व करने का ही काम करता है।

दरअसल सर्वर एक मीडियोकर होता है डाटा को सर्व और मैनेज करना है। सर्वर आर्डर के अनुसार परफॉर्म किये हुए डाटा को स्टोर करता है और फिर उसे बाटता है। इसके बाद सर्वर डाटा को आर्डर मिलने पर प्रोसेस करते हुए यूजर तक डिलीवर करता है।

यानि की सर्वर का काम कुल मिलकर आर्डर के अनुसार डाटा को स्टोर, प्रोसेस और डिलीवर करना होता है। डाटा की डिलीवरी के लिए सर्वर कंप्यूटर को स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क (LAN) या इंटरनेट पर विस्तृत क्षेत्र नेटवर्क (WAN) आदि का उपयोग करता है।

Server के प्रकार

अगर आप सर्वर को सटीक रूप से समझना चाहते हो तो इसके लिए आपको सर्वर के प्रकार के बारे में भी जानना होगा। दरअसल सर्वर के एक नहीं बल्कि कई प्रकार होते है जो कई तरह से निर्धारित किये जाते है। अगर सर्वर के मुख्य प्रकारो की बात की जाये तो वह कुछ इस प्रकार है:

Web Server: यह एक ऐसा सर्वर होता है जो वेब एप्लीकेशंस और वेबसाइटों को चलाने में उपयोग में लिया जाता है। इस तरह के सर्वर का काम वेबसाइट्स से जुड़े हुए डाटा जैसे की वेब पेज आदि को स्टोर, प्रोसेस और डिलीवर करना होता है।

Application Server: वर्तमान समय में हर काम एप्लीकेशंस के माध्यम से होता है। काफी सारी एप्लीकेशंस को करोड़ो लोग उपयोग करते है तो ऐसे में एप्प्स का सटीक रूप से काम करना जरूरी होता है। इन एप्प्स के लिए जिस सर्वर का उपयोग किया जाता है उसे एप्पलीकेशन सर्वर कहते है।

Proxy Server: इस तरह के सर्वर को प्रॉक्सी भी कहा जाता है। यह सर्वर यूजर और इंटरनेट के बिच एक तरह से गेट के रूप में काम करता है। इस तरह के सर्वर का उपयोग Network Connection Sharing, Network Data Filtering और Data Caching आदि में किया जाता है।

File Server: इस तरह के सर्वर का उपयोग किया जाता है नेटवर्क के बिच में फाइल सोर्स को सम्हव बनाने के लिए। सामान्य भाषा में समझा जाये तो फाइल सर्वर विभिन्न प्रकार की फाइल्स जैसे की टेक्स्ट डॉक्युमेंट्स, इमेजेज और मल्टीमीडिया आदि को स्टोर करने के लिए नेटवर्क में जगह बनाती है।

Database Server: यह एक ऐसा सर्वर होता है जो एक वेयरहाउस की तरह काम करता है। इस तरह के सर्वर का प्रयोग मुख्य रूप से वेब्सायट आदि के डाटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है। यह सर्वर डाटा को डाटाबेस से एक्सेस करने और वापस प्राप्त करने से जुड़े काम भी करता है।

Mail Server: मेल सर्वर का काम इसके नाम से ही पता चल जाता है। यह एक ऐसा सर्वर होता है जिसका काम इंटरनेट पर मौजूद किसी स्पेसिफिक नेटवर्क पर मेल्स को मैनेज करता है। इस सर्वर को Mail Server Transfer Agent और Internet Mailer के नाम से भी जाना जाता है।

FTP Server: इस सर्वर का पूरा नाम ‘फाइल ट्रांसेर प्रोटोकॉल सर्वर’ है। यह एक ऑनलाइन फाइल प्रोटोकॉल सर्वर होता है जिसका उपयोग एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर में फाइल ट्रांसफर करना सम्भव बनाया जाता है। इस सर्वर के कारण ही इंटरनेट पर फाइल को ट्रांसफर किया जाता है।

तो यह थे सर्वर के कुछ मुख्य प्रकार! इनके अलावा भी सर्वर के कई प्रकार हो सकते है जो कई तरीको से बाटे जाते है।

Server Down क्यों होता है?

सर्वर का नाम सुनते ही दिमाग में जो सवाल आते है उनमें से एक मुख्य सवाल यह होता है की आखिर Server Down क्यों होता है? आपने अक्सर सुना होगा कि किसी बड़ी कंपनी का सर्वर डाउन हो गया या फिर किसी वेबसाइट को रिसेट करने पर आपको सर्वर डाउन का मैसेज दिखाया गया होगा और आप वेबसाइट को एक्सेस नहीं कर पाए होंगे। ऐसे में दिमाग में यह सवाल आता है कि सर्वर डाउन क्यों होता है? इसे समझना अधिक मुश्किल नहीं है क्युकी सर्वर डाउन होने का मुख्य कारण एक ही होता है।

दरअसल सर्वर डाउन होने का मुख्य कारण यही होता है कि किसी भी सर्वर को एक स्पेसिफिक कैपेसिटी के लिए ही डिजाइन किया जाता है लेकिन कई बार उस सर्वर को अपनी केपेसिटी से अधिक उजर्स को सर्व करना पड़ जाता है अर्थात प्लेटफार्म पर सरवर की कैपेसिटी से अधिक लोग आ जाते हैं।

ऐसे में सर्वर डाउन हो जाता है। इसे थोड़ी टेक्नीकल बभाषा में देखा जाये तो Network Problem, Application Crash, Power Failure, DOS Attack और Operating System Crash जैसे कारणों की वजह से सर्वर क्रेश होता है।

Server का क्या महत्त्व होता है?

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि सरवर इंटरनेट की दुनिया या फिर कहा जाए तो डिजिटल दुनिया का एक महत्वपूर्ण भाग होता है तो ऐसे में अगर आप प्रौद्योगिकी में रुचि रखते हैं तो आपको सरवर के महत्व के बारे में पता होना चाहिए अर्थात आपको पता होना चाहिए कि सरवर का क्या महत्व होता है? दरअसल सर्वर का काम डाटा को मैनेज और स्टोर आदि करना होता है तो ऐसे में अगर सरवर अपना यह काम ना करें तो वर्तमान समय की सटीक डिजिटल और इंटरनेट से जुड़ी दुनिया की कल्पना ही नहीं की जा सकती।

इंटरनेट से जुड़ी हुई इस डिजिटल दुनिया में वर्तमान में हर काम डाटा के मैनेजमेंट से संभव हो पाता है। आप इंटरनेट का उपयोग करते हुए जितने भी एप्लीकेशन और वेबसाइट आदि का उपयोग करते हैं या फिर आप जब अपने ऑपरेटिंग सिस्टम में भी कोई कार्य कर रहे होते हैं तब भी आप कई तरह से कई सर्वरो को कई आर्डर दे रहे होते है।

जब वह सर्वर आपका ऑर्डर एक्सेप्ट करके आपका काम करता है। इंटरनेट की पूरी दुनिया डाटा पर टिकी हुई है और डाटा को मैनेज सर्वर करते है। ऐसे में सर्वर वाकई में काफी महत्वपूर्ण है।

निष्कर्ष

आए दिन कभी न्यूज़ तो कभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर हम सर्वर के बारे में सुनते रहते हैं। इंटरनेट का उपयोग करते वक्त हम कई बार कई सरवर को काम में लेते हैं लेकिन उसके बावजूद भी अधिकतर लोगों को नहीं पता कि ‘सर्वर क्या है और Server Down क्यों होता है’ (Meaning of Server in Hindi) और यही कारण है की हमने यह लेख लिखा है जिसमे हमने सर्वर की पूरी जानकारी आसान भाषा में देने की कोशिश की है। उम्मीद है की यह लेख आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित हुआ होगा।

Similar Posts